जबलपुर - नयागांव सोसाइटी में फिर गुर्राए तेंदुए,पदचिन्ह के मिले निशान,वीडियो में रिकॉर्ड हुई आवाज - Madhya Live Khabar

Breaking

मध्य लाइव खबर पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति, विज्ञापन मोबाइल- +917879749111 पर व्हाट्सएप्प करें....मध्य लाइव खबर को आवश्यकता है तमाम जिले ओर तहसील में अनुभव व्यक्ति की... संपर्क - +917879749111, +916264366332

जबलपुर - नयागांव सोसाइटी में फिर गुर्राए तेंदुए,पदचिन्ह के मिले निशान,वीडियो में रिकॉर्ड हुई आवाज

जबलपुर - [ संवाददाता डेस्क ] नया गांव में फिर तेंदुए सक्रिय हो गए हैं सोसाइटी निवासी चार्टर्ड अकाउंटेंट रवि राठी के बंगले के बाहर दो तेंदुए ने आवारा कुत्तों पर अटैक किया लेकिन अटैक फेल होने के कारण कुत्ते बच निकले जिसके बाद तेंदुए ने जोर-जोर से गिराना शुरू कर दिया यह पूरा घटना वीडियो रिकॉर्डिंग मैं रिकॉर्ड हो गया घटना के वक्त राठी के छोटे भाई आलोक राठी के बच्चे पढ़ाई कर रहे थे कुत्तों के लगातार भोकने और घबराहट की अलग आवाज आने के कारण बच्चों ने खिड़की से मोबाइल में रिकॉर्डिंग शुरू कर दी अंधेरा और दूरी ज्यादा होने के कारण तेंदुए की तस्वीर या वीडियो तो नहीं बन पाया लेकिन ऑडियो में तेंदुए की घबराहट साफ सुनाई दे रही थी देर रात इस घटना के बाद श्री राठी ने सोसायटी के अध्यक्ष रजत भार्गव को जानकारी दी और भार्गव के साथ छोटे सोसाइटी के कई लोग राठी परिवार से मिलने पहुंच गए गाड़ियों की आवाज से तेंदुए तो जंगल की तरफ निकल गए लेकिन जब चेक किया गया तो बंगले के बाहर अलग-अलग साइज के तेंदुए के पगमार्क मिले है..

 सोसायटी के अध्यक्ष भार्गव ने दायर की जनहित याचिका..

 पिछले कई महीने से नयागांव क्षेत्र में आतंक का पर्याय बने तेंदुए और उसके परिवार का विशेषज्ञों की सलाह पर सुरक्षित स्थान में पूर्ण वास किए जाने को लेकर दायर याचिका पर हाई कोर्ट ने गुरुवार को प्रदेश सरकार अन्य को नोटिस जारी करने के निर्देश दिए नयागांव निवासी रजत भार्गव की ओर से एक दायर याचिका मामले पर चीफ जस्टिस अजय कुमार मित्तल और जस्टिस अतुल श्रीधरण की युगल पीठ ने अगली सुनवाई 1 सितंबर को निर्धारित की है आवेदक का कहना है कि नवंबर 2019 में पहली बार तेंदुए को नयागांव क्षेत्र में देखा गया था और तब से अब तक वह कई बार दिखाई दे चुका है उसके बाद वे वहां पर एक न एक मादा तेंदुए को दो शब्दों के साथ भी देखा गया तेंदुए के कारण क्षेत्र के हर एक घर में दहशत बरकरार होने के चलते यह याचिका दायर की गई है..