जबलपुर के साथ छल किया शिवराज ने : दिनेश यादव - जब तक संस्कारधानी को मंत्रिमंडल में स्थान न मिले तब तक शहर में न हो CM का स्वागत - Madhya Live Khabar

Breaking

मध्य लाइव खबर पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति, विज्ञापन मोबाइल- +917879749111 पर व्हाट्सएप्प करें....मध्य लाइव खबर को आवश्यकता है तमाम जिले ओर तहसील में अनुभव व्यक्ति की... संपर्क - +917879749111, +916264366332

जबलपुर के साथ छल किया शिवराज ने : दिनेश यादव - जब तक संस्कारधानी को मंत्रिमंडल में स्थान न मिले तब तक शहर में न हो CM का स्वागत


जबलपुर - शहर कांग्रेस अध्यक्ष दिनेश यादव ने शिवराज सरकार के मंत्रिमंडल विस्तार पर टिप्पणी करते हुए इसे जबलपुर का अपमान बताया। जहाँ प्रदेश के छोटे से छोटे जिलों को मंत्रिमंडल में सम्मिलित किया गया। वहीं प्रदेश का महानगर जबलपुर को अनदेखा कर शिवराज सरकार ने संस्कारधानी का अपमान किया। जिस जबलपुर को कमलनाथ सरकार ने दो-दो कैबिनेट मंत्री देकर जबलपुर वासियों को सम्मानित किया, उसी जिले को भाजपा ने अनाथ समझ लिया। एक राज्यमंत्री ना देना भी यह दर्शाता हैं कि भाजपा को जबलपुर से कोई वास्ता नहीं है।
उल्लेखनीय है कि जिस जबलपुर की जनता ने लगातार विगत 25 वर्षों से भाजपा को विधायक और सांसद दिए हैं उसके साथ धोखा हुआ है। दिनेश ने इस बात पर रोष जताया कि जिस शहर ने भाजपा के प्रतिनिधियों को प्रचंड बहुमत से अपना जनप्रतिनिधि चुना हो उस शहर के साथ ऐसे छल कपट की राजनीति कभी भी बर्दाश्त नहीं की जायेगी। जिस संसदीय क्षेत्र में भारतीय जनता पार्टी के सांसद प्रत्याशी राकेश सिंह को चार बार लाखों मतों से प्रचंड बहुमत देकर विजय दिलाई हो और केंद्र की भाजपा सरकार का हिस्सा बनाया और पूर्व मंत्री अजय विश्नोई जैसे भाजपा के कद्दावर नेता भी जिले में नेतृत्व कर रहे हैं।

शहर को प्रदेश मंत्रिमंडल में स्थान न मिलने से नाराज़ यादव ने कहा कि यह दुख का विषय है की जिस शहर ने भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष का नेतृत्व किया हो, जिस शहर से भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष का परिवारिक रिश्ता हो उस शहर का ऐसा अपमान कैसे बर्दाश्त किया जा सकता है? उन्होंने कहा कि इस अपमान को संस्कारधानी कभी नहीं भूलेगी।

शिवराज सरकार ने जबलपुर के भाजपा कार्यकर्ताओं का ही नहीं आम जनता का भी अपमान किया है। कांग्रेस पार्टी जिले के इस अपमान को गंभीरता से ले रही है। कांग्रेस ने भाजपा कार्यकर्ता और नेताओं के अलावा आम नागरिकों से भी अपील की है कि शिवराज सरकार के खिलाफ आवाज बुलंद करें और उनका इस शहर में तब तक स्वागत ना करें जब तक कि वे जबलपुर को मंत्रिमंडल में सम्मिलित कर जनता का सम्मान वापस न लौटा दें।