उज्जैन - आज शाम को निकलेगी 'बाबा महाकाल' की सवारी - मंदिर परिसर बाबा के जयकारों से गुंजायमान - Madhya Live Khabar

Breaking

मध्य लाइव खबर पाठकों से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति, विज्ञापन मोबाइल- +917879749111 पर व्हाट्सएप्प करें....मध्य लाइव खबर को आवश्यकता है तमाम जिले ओर तहसील में अनुभव व्यक्ति की... संपर्क - +917879749111, +916264366332

उज्जैन - आज शाम को निकलेगी 'बाबा महाकाल' की सवारी - मंदिर परिसर बाबा के जयकारों से गुंजायमान

उज्जैन- (संवाददाता डेस्क) महाकालेश्वर की सावन की पहली सवारी सोमवार शाम 4 बजे मंदिर परिसर से निकलेगी। प्रशासन ने महाकालेश्वर मंदिर में एक दिन पहले ऑनलाइन बुकिंग कराने वालों को दर्शन कराने की व्यवस्था की है, लेकिन सवारी के दर्शन के लिए श्रद्धालुओं को अनुमति नहीं है। सवारी के लिए मार्ग छोटा कर ग्रीन कॉरिडोर बनाया गया है। सवारी मार्ग पर आने वाले रास्तों को बैरिकेडिंग कर बंद कर दिए गए हैं। सोमवार से ही सावन की शुरूआत हुई है, ऐसे में बाबा महाकाल का सुबह विशेष श्रृंगार किया गया। सुबह से ही भक्त बाबा के दर्शन के लिए लाइन में लगे। पूरा मंदिर परिसर बाबा के जयकारों ने गुंजायमान हो गया।
सावन में भगवान महाकाल की 5 और भादौ में 2 कुल 7 सवारियां निकलेंगी। आखिरी सवारी प्रमुख होगी। कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए प्रशासन ने सवारी में श्रद्धालुओं को प्रतिबंधित किया है। इसके लिए सवारी मार्ग के एक किमी हिस्से में सभी मार्गों को ब्लॉक
किया गया है। सवारी के लिए मार्ग के दोनों तरफ बैरिकेडिंग कर ग्रीन कॉरिडोर बनाया गया है। इसमें सवारी के प्रोटोकॉल में तैनात पुजारी व अन्य ही प्रवेश करेंगे।
इसी के पास एक ओर बैरिकेडिंग मार्ग है, जिसमें मीडिया और अन्य अनुमति धारक अधिकारी-कर्मचारी व्यवस्था के लिए तैनात होंगे। आईजी राकेश गुप्ता के अनुसार सवारी के लिए ग्रीन कॉरिडोर बनाया गया है। इसमें सवारी के प्रोटोकाल के अलावा कोई प्रवेश नहीं करेगा। अन्य अनुमति धारकों के आने-जाने के लिए दूसरा बैरिकेडिंग मार्ग होगा। सवारी मार्ग की ओर आने वाले सभी रास्ते बंद किए जाएंगे।
सुबह 5.30 से रात 9 बजे तक दर्शन
सावन के पहले सोमवार को महाकालेश्वर मंदिर में सुबह 5.30 बजे से दर्शन शुरू हुए। मंदिर समिति ने सामान्य कतार में दर्शन के लिए 7.5 हजार श्रद्धालुओं को ऑनलाइन प्री-परमिशन दी है। दर्शन चार पारियों में रात 9 बजे तक होंगे। दर्शन के लिए शंखद्वार गेट से प्रवेश दिया जा रहा है। श्रद्धालुओं को स्वास्थ्य परीक्षण के बाद मंदिर में जाने की अनुमति दी जा रही है। मंदिर में पूजन सामग्री, फूल, प्रसाद, जल-दूध ले जाने पर पाबंदी है। श्रद्धालुओं नंदीगृह के पीछे गणेश मंडपम से दर्शन कर रहे हैं।
सवारी मार्ग की 27 गलियों में बैरिकेडिंग
सवारी निकले के पहले सवारी मार्ग की 27 गलियों को सोमवार को पूरी तरह से बंद कर दिया जाएगा। सवारी के दौरान चार घंटे के लिए सवारी मार्ग के एक किलोमीटर एरिया में पुलिस रास्ते बंद कर आवाजाही रोक देगी। सुबेदार संजय राजपूत ने बताया कि सोमवार को दोपहर 2 से शाम 6.30 बजे के दौरान चारधाम, बेगमबाग, कोटमोहल्ला, गुदरी, कहारवाड़ी, शंकराचार्य चौराहा, नृसिंहघाट पहुंच मार्ग, यंत्र महल से चारधाम पहुंच मार्ग, दानीगेट से रामघाट-मुंबई वालों की धर्मशाला तक का मार्ग प्रतिबंधित रहेगा।
4 बजे शुरू होगी सवारी : महाकालेश्वर मंदिर के सभा मंडप में पूजन के बाद शाम 4 बजे सवारी शुरू होगी। प्रशासन ने कहा है कि सभामंडप में भी केवल अनुमति धारक ही प्रवेश कर सकेंगे। सवारी में पुलिस बैंड, घुड़सवार सेना, सशस्त्र बल, चोबदार, पालकी के साथ पुजारी शामिल होंगे।
यह है सवारी मार्ग
महाकाल से रामघाट की ओर- बड़ा गणेश, हरसिद्धि चौराहा, सिद्धाश्रम के सामने से पिशाचमुक्तेश्वर मंदिर के पास से होकर रामघाट।
रामघाट से महाकाल की ओर- रामानुजकोट, पाल, हरसिद्धि चौराहा, बड़ा गणेश होकर महाकाल मंदिर।
दो सवारी के बाद समीक्षा : कलेक्टर आशीष सिंह ने स्पष्ट किया है कि पहली और दूसरी सवारी निकाले जाने के बाद व तीसरी सवारी के पहले जिला स्तरीय आपदा प्रबंधन समूह बैठक कर सवारी मार्ग के बारे में निर्णय लेकर मार्ग तय करेगा।